Thursday, October 9, 2008

रावण का विवाह (Marrage of Ravan)

उसने स्वयं दिति के पुत्र मय की कन्या मन्दोदरी से विवाह किया जो hema नामक अप्सरा के गर्भ से उत्पन्न हुई थी। बहन शूर्पणखा का विवाह कालका के पुत्र दानवराज विद्युविह्वा के साथ कर दिया। विरोचनकुमार बलि की पुत्री वज्रज्वला से कुम्भकर्ण का और गन्धर्वराज महात्मा शैलूष की कन्या सरमा से विभीषण का विवाह हुआ। कुछ समय पश्‍चात् मन्दोदरी ने मेघनाद को जन्म दिया जो इन्द्र को परास्त कर संसार में indrajeet के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

2 comments:

mehek said...

bahut achhi jankarin

Rakesh Kaushik said...

very useful informations
great to see u here?


Rakesh Kaushik

Blog Archive