Monday, October 6, 2008

कन्या girl

दुर्गा की पूजा करना और फिर कन्या का भ्रूण हत्या करना, देवी से धन, विद्या, शक्ति मांगना फिर दहेज न लाने पर उसी देवी को जलाकर मार डालना यह कैसी बिडम्बना है ,आज समाज में नारी की यह कैसी स्थिति है एक ओर माता मानकर पूजा करना तो दूसरी ओर उसकी निर्मम हत्या करना । तीर्थ और मंदिर गंदे रखना तथा हिन्दू द्वारा ही हिन्दुओं के विरोध में खड़ा होना आज के हिन्दु-समाज की समस्याएं हैं। अगर हम इकट्ठा हो गए तो न जिहाद जीत सकता है और न ही मतांतरण की शक्तियां ।

5 comments:

neeshoo said...

बिल्कुल सही बात लिखी है । पर हम कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं । इसीलिए ये समस्याएं है । जहां पर उपाय की बात करें तो व्यवहार में मूल बातों को लाना होगा । केवल कहने कुछ भी नहीं होगा । सामाजिक चेतना की आवश्यकता है । अच्छा लिखा है । बधाई

seema gupta said...

"bhut hee sache or dard bhre bhav vyekt kiye hain aapne, kash aap ke bhavna kee log kdar kren or aap ke wish pure ho'

regards

Udan Tashtari said...

विचारणीय आलेख!!

dr. ashok priyaranjan said...

achcha likha hai aapney. isi muddey per maine apney blog per ek lekh -kitni ladaiyein ladeingi ladkiyan-likha hai.aapki rai mere liye badi mahatavpurn hogi.

http://www.ashokvichar.blogspot.com

shrikant verma said...

AAGE AANA HOGA KUCH KARNA HOGA

Blog Archive